Hindi Application कैसे लिखें ( 5 प्रकार के Hindi Application Format )

Hindi Application Kaise Likhe :- दोस्तों स्वागत है आपका हमारे इस ब्लॉग में,
आज कि इस पोस्ट में हम और आप जानेंगे कि Hindi application kaise likhe अगर आप भी जानना चाहते हैं कि hindi me application kaise likhe तो इस पोस्ट को बिल्कुल अंत तक जरूर पढ़ें

क्योंकि इस पोस्ट में hindi application kaise likhe यह तो बताएंगे ही साथ ही इसके बारे में सारी जानकारियां प्राप्त करेंगे जैसे :- एप्लीकेशन क्या होता है, एप्लीकेशन कितने प्रकार का होता है, हिंदी में एप्लीकेशन लिखने के कारण क्या है, hindi application format क्या है, इत्यादि।

आशा करता हूं इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको hindi application लिखना आ जाएगा साथ ही आपके मन से यह प्रश्न भी निकल जाएगा कि hindi me application kaise likhe

Hindi Application क्या होता है ?

एप्लीकेशन का हिंदी में अर्थ होता है “आवेदन”। यह एक लिखित रूप होता है किसी भी बातों को लिखित रूप में व्यक्त करने का, अगर आप किसी भी व्यक्ति से कोई बात करना चाहते हैं या अपनी कोई समस्या का समाधान किसी से पाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपनी उस समस्या को लिखित या मौखिक रूप से बताना होता है अगर आप अपनी समस्या को लिखित रूप में बताते हैं तो उसे एप्लीकेशन या आवेदन कहा जाता है।

अगर आपको किसी से कोई काम है या आपको किसी भी व्यक्ति से किसी चीज के लिए निवेदन करनी है तो इसके लिए आपको मुख्य रूप से लिखित तौर पर बताना होता है चुकी यह एक पुरानी परंपरा है जिसे लोग आज तक उपयोग करते आ रहे हैं।

आवेदन शब्द का अर्थ मुख्यतः “निवेदन करना” होता है जिसे पूरा करना आपके लिए काफी आवश्यक है और हर हाल में आप इसे पूरा करना चाहते हैं।

Hindi Application के प्रकार

जैसे कि मैंने आपको बताया कि आवेदन का अर्थ ही एक प्रकार से निवेदन करना होता है और आवेदन का उपयोग लगभग सभी प्रकार के शैक्षणिक कार्यो में, सरकारी तथा गैरसरकारी कार्यो में, कार्यालयों में मुख्य रूप से किए जाते हैं। अगर आपको इन सभी जगहों पर कोई काम है तो उसके लिए आपको आवेदन लिखने की आवश्यकता होती है जिसके उपरांत आपका यह काम सफलतापूर्वक संपन्न किया जाता है।

इस हिसाब से हिंदी में एप्लीकेशन लिखने के काफी सारे प्रकार हैं जिसमें से कुछ मुख्य प्रकार निम्न है :-

  • टीसी के लिए एप्लीकेशन
  • बैंक के लिए एप्लीकेशन
  • सीएलसी के लिए एप्लीकेशन
  • एसएलसी के लिए एप्लीकेशन
  • एडमिशन के लिए एप्लीकेशन
  • नौकरी के लिए एप्लीकेशन
  • छुट्टी के लिए एप्लीकेशन
  • प्रिंसिपल के लिए एप्लीकेशन
  • पुलिस कंप्लेंट के लिए एप्लीकेशन
  • किसी उच्च अधिकारी के लिए एप्लीकेशन
  • जिला न्यायाधीश के लिए एप्लीकेशन

हिंदी में एप्लीकेशन लिखने के कारण

आवेदन लिखने के 2 तरीका तथा मुख्य दो भाषा होता हैं पहला हिंदी में तथा दूसरा अंग्रेजी। आप दोनों में से किसी एक भाषा का उपयोग करके एप्लीकेशन लिख सकते हैं परंतु हमें यह ज्ञात है कि ज्यादातर लोग अंग्रेजी कम जानते हैं खासकर जो लोग गांव में या छोटे शहरों में रहने वाले होते हैं वह हिंदी की मुख्य प्रधानता देते हैं तथा हिंदी में आवेदन लिखना पसंद करते हैं। इन सभी कारणों से हमें हिंदी में आवेदन लिखना आना चाहिए ताकि समय आने पर हम हिंदी एप्लीकेशन लिख सकें।

हिंदी आवेदन की कई सारी जरूरतें हमें समय-समय पर होती रहती है जैसे :- स्कूल कॉलेज में, अस्पतालों में, अधिकारी कामों में, सरकारी कामों में, महाविद्यालयों में, कार्यालयों में, हर जगह लोगों को अक्सर काम परता रहता हैं तथा उसे पूरा कराने के लिए हमें आवेदन लिखकर देना होता है ताकि हमारा वह कार्य पूरा किया जा सके।

हिंदी एप्लीकेशन लिखने के निम्न मुख्य प्रकार है जिसकी आवश्यकता अक्सर लोगों को होती है :-

  • स्कूल से टीसी लेने के लिए आवेदन लिखना।
  • स्कूल या कॉलेज से सर्टिफिकेट लेने के लिए आवेदन लिखना।
  • कॉलेज से टीसी लेने के लिए आवेदन लिखना।
  • बुखार होने पर स्कूल कॉलेज से छुट्टी के लिए आवेदन लिखना।
  • परिजनों के साथ कहीं जाने वास्ते स्कूल कॉलेज से छुट्टी लेने के लिए आवेदन लिखना।
  • बैंक में नया खाता खुलवाने के लिए आवेदन।
  • बैंक में चालू या पुराना खाता बंद करवाने के लिए।
  • बैंक से नया पासबुक लेने के लिए आवेदन।
  • बैंक से नया चेक बुक लेने के लिए आवेदन।
  • बैंक खाता में नया नंबर जुड़वाने के लिए आवेदन।

Hindi Application लिखने का तरीका

सभी प्रकार के आवेदन लिखने का अलग-अलग तरीका होता है जिसे फॉलो करते हुए आपको एप्लीकेशन लिखना होता है तभी आपका आवेदन मान्य माना जा सकता है। अगर आप गलत तरीके से आवेदन लिखकर जमा करते हैं तो आपका वह आवेदन स्वीकृत नहीं किया जा सकता है।

इसी प्रकार हिंदी एप्लीकेशन लिखने का भी एक निश्चित तरीका होता है जिसके आधार पर आपको वह आवेदन लिखना होता है जो तरीके निम्नलिखित है :-

  • सबसे ऊपर में आपको लिखना है “सेवा में” और यह आपको अपनी बाई तरफ से लिखना है, उसी पंक्ति में दाएं तरफ आपको “दिनांक” लिखकर उसके बगल में उस दिन का दिनांक डालना है।
  • अब दूसरी पंक्ति में बाई तरफ से “श्रीमान” लिखकर उसके आगे उस व्यक्ति का नाम डालें जिससे आप आवेदन सौंपना चाहते हैं जैसे :- प्रधानाध्यापक, शाखा प्रबंधक, कार्यालय प्रधान, इत्यादि।
  • अगली पंक्ति में बाई तरफ से “विषय” लिखकर उसके नीचे अपना विषय डालें जैसे :- टीसी लेने के संदर्भ में, सीएलसी लेने के विषय में, एसएससी लेने के विषय में, स्कूल / कॉलेज से छुट्टी लेने के विषय में, नया पासबुक लेने के विषय में, इत्यादि।
  • अगली पंक्ति में बाई तरफ से लिखे “महाशय” उसके नीचे वाली पंक्ति में “सविनय निवेदन यह है कि” यह लिखकर आप आगे अपना नाम, घर, (अगर आप स्कूल / कॉलेज में है तो वर्ग, वर्ग क्रमांक) (अगर आप बैंक के लिए आवेदन लिख रहे हैं तो खाता तथा खाता संख्या)
  • इसके आगे आप अपना निवेदन पूरे विस्तार में बताएं जिससे पता चल सके कि आपको क्या काम है।
  • अपना काम बताने के बाद नए पंक्ति में लिखें “अतः श्रीमान से आग्रह एवं निवेदन है कि” उसके आगे अपना विषय जैसे :- टीसी देने की कृपा करें, नया पासबुक देने की कृपा करें’ छुट्टी देने की कृपा करें, इत्यादि।
  • इतना लिखने के बाद बाएं तरफ से अपनी तथा अपने काम के बारे में सारी जानकारी लिखे जैसे :- नाम, वर्ग, वर्ग क्रमांक, स्कूल का नाम, कॉलेज का नाम, महाविद्यालय का नाम, बैंक का नाम खाता संख्या, इत्यादि।
  • उसी पंक्ति में दाईं तरफ से अपना हस्ताक्षर दिनांक के साथ डालें।

अलग-अलग Hindi Application के Format

जैसे कि मैंने आपको बताया कि हिंदी एप्लीकेशन के काफी सारे प्रकार है और सभी प्रकारों के लिए एप्लीकेशन लिखने का अलग अलग तरीका होता है, आपकी सुविधा के लिए मैं आपको सभी अलग-अलग हिंदी एप्लीकेशन के लिए अलग-अलग एप्लीकेशन फॉरमेट प्रदान करने वाला हूं।

जिसके बाद आप उस फॉरमेट को देखकर एप्लीकेशन लिख पाएंगे या डायरेक्ट कॉपी करके पेस्ट कर पाएंगे।

1.) Bank को Application (Hindi Application Format) –

सबसे पहले बाई तरफ से लिखें “सेवा में”, तथा उसी पंक्ति में दाएं तरफ से दिनांक लिखें।

अब उसके नीचे बाई तरफ से “श्रीमान शाखा प्रबंधक महोदय” लिखें।

उसके जस्ट नीचे बाई तरफ से “विषय” लिखें।

उसके नीचे बाएं तरफ से लिखें “मेरा नाम ……………. है और मैं आपके शाखा का खाता धारक हूं तथा मेरा शाखा संख्या …………….. है।

अब आप अपने समस्या से जुड़ी जानकारी विस्तार में बताएं,
समस्या बताने के उपरांत लिखें “अतः श्रीमान शाखा प्रबंधक से आग्रह एवं निवेदन है कि …………. (अपना कार्य) …………… की कृपा करें।

अब उसके नीचे बाईं तरफ से “अपना नाम तथा खाता संख्या बताएं” तथा उसके नीचे दाएं तरफ अपना “हस्ताक्षर” डालें।

2.) School को Application (Hindi Application Format) –

सबसे पहले बाई तरफ से लिखें “सेवा में”, तथा उसी पंक्ति में दाएं तरफ से दिनांक लिखें।

अब उसके नीचे बाई तरफ से “श्रीमान प्रधानाध्यापक महोदय” लिखें।

उसके जस्ट नीचे बाई तरफ से “विषय” लिखें।

उसके नीचे बाएं तरफ से लिखें “मेरा नाम ……………. है और मैं आपके विद्यालय ……………..का छात्र हूँ, मैं इस विद्यालय के कक्षा……………… में पढता हूँ तथा मेरा क्रमांक……………है।

अब आप अपने समस्या से जुड़ी जानकारी विस्तार में बताएं,
समस्या बताने के उपरांत लिखें “अतः श्रीमान प्रधानाध्यापक से आग्रह एवं निवेदन है कि …………. (अपना कार्य) …………… की कृपा करें।

अब उसके नीचे बाईं तरफ से “अपना नाम,कक्षा,क्रमांक तथा उसके नीचे दाएं तरफ अपना “हस्ताक्षर” डालें।

3.) College को Application (Hindi Application Format) –

सबसे पहले बाई तरफ से लिखें “सेवा में”, तथा उसी पंक्ति में दाएं तरफ से दिनांक लिखें।

अब उसके नीचे बाई तरफ से “श्रीमान प्रधानाचार्य महोदय” लिखें।

उसके जस्ट नीचे बाई तरफ से “विषय” लिखें।

उसके नीचे बाएं तरफ से लिखें “मेरा नाम ……………. है और मैं आपके काॅलेज ……………..का छात्र हूँ, मैं इस काॅलेज के कक्षा……………… में पढता हूँ तथा मेरा क्रमांक……………है।

अब आप अपने समस्या से जुड़ी जानकारी विस्तार में बताएं,
समस्या बताने के उपरांत लिखें “अतः श्रीमान प्रधानाचार्य से आग्रह एवं निवेदन है कि …………. (अपना कार्य) …………… की कृपा करें।

अब उसके नीचे बाईं तरफ से “अपना नाम,कक्षा,क्रमांक तथा उसके नीचे दाएं तरफ अपना “हस्ताक्षर” डालें।

4.) उच्च अधिकारी को Application (Hindi Application Format) –

सबसे पहले बाई तरफ से लिखें “सेवा में”, तथा उसी पंक्ति में दाएं तरफ से दिनांक लिखें।

अब उसके नीचे बाई तरफ से “श्रीमान जिला अधिकारी महोदय” लिखें।

उसके जस्ट नीचे बाई तरफ से “विषय” लिखें।

उसके नीचे बाएं तरफ से लिखें ( अपना नाम, गाँव/शहर का नाम, थाना, Block, जिला, इत्यादि।)

अब आप अपने समस्या से जुड़ी जानकारी विस्तार में बताएं,
समस्या बताने के उपरांत लिखें “अतः श्रीमान जिला अधिकारी महोदय से आग्रह एवं निवेदन है कि …………. (अपना कार्य) …………… की कृपा करें।

अब उसके नीचे बाईं तरफ से “अपना नाम, गाँव/शहर का नाम, थाना, Block, जिला तथा उसके नीचे दाएं तरफ अपना “हस्ताक्षर” डालें।

5.) थाना प्रभारी को Application (Hindi Application Format) –

सबसे पहले बाई तरफ से लिखें “सेवा में”, तथा उसी पंक्ति में दाएं तरफ से दिनांक लिखें।

अब उसके नीचे बाई तरफ से “श्रीमान थाना प्रभारी महोदय” लिखें।

उसके जस्ट नीचे बाई तरफ से “विषय” लिखें।

उसके नीचे बाएं तरफ से लिखें ( अपना नाम, गाँव/शहर का नाम, थाना, इत्यादि।)

अब आप अपने समस्या से जुड़ी जानकारी विस्तार में बताएं,
समस्या बताने के उपरांत लिखें “अतः श्रीमान जिला अधिकारी महोदय से आग्रह एवं निवेदन है कि …………. (अपना कार्य) …………… की कृपा करें।

अब उसके नीचे बाईं तरफ से “अपना नाम, गाँव/शहर का नाम, थाना तथा उसके नीचे दाएं तरफ अपना “हस्ताक्षर” डालें।

Hindi Application के कुछ उदाहरण

1.) School से TC लेने के लिए आवेदन :-

hindi me application kaise likhe
Hindi application kaise likhe

2.) College से TC लेने के लिए आवेदन :-

Hindi me application kaise likhe
Hindi application kaise likhe

3.) जिला पदाधिकारी को आवेदन पत्र :-

Hindi me application kaise likhe
Hindi application kaise likhe

4.) थाना प्रभारी को आवेदन पत्र :-

Hindi me application kaise likhe
Hindi application kaise likhe

5.) बैंक के काम के लिए आवेदन :-

Hindi me application kaise likhe
Hindi application kaise likhe

Hindi Application लिखते समय सावधानियां

अगर आप हिंदी में एप्लीकेशन लिखना चाहते हैं और आप जानना चाहते हैं कि आवेदन लिखते समय हमें किन-किन सावधानियों का ख्याल रहे, तो अब मैं उस सभी के बारे में विस्तार मैं बताने जा रहा हूं क्योंकि अगर आप आवेदन लिखते समय कोई गलती करते हैं तो इससे आपका वह आवेदन अस्वीकृत किया जा सकता है।

  • आवेदन लिखते समय आपको हमेशा नम्र तथा सभ्य शब्दों का प्रयोग अपने हिंदी एप्लीकेशन में करना चाहिए।
  • आवेदन लिखते समय सही तरीके तथा सही फॉर्मेट का उपयोग करें।
  • आवेदन लिखने में दिनांक तथा लिखने के बाद अपना हस्ताक्षर अवश्य डालें।
  • आवेदन में दिनांक उस दिन का डाले जिस दिन आप यह आवेदन जमा करने वाले हो।
  • एप्लीकेशन में अपना विषय तथा समस्या विस्तार में व्यक्त करें ताकि आपकी बातों को सामने वाला व्यक्ति समझ पाए और आपकी समस्या का निवारण कर पाए।
  • आवेदन में Overwriting का प्रयोग ना करें क्योंकि इससे आपका आवेदन गंदा दिखेगा आवेदन को हमेशा साधारण तथा स्पष्ट शब्दों में लिखें।
  • आपका आवेदन सरल भाषा में होना चाहिए ताकि पढने वाला व्यक्त उसे समझ पाए।
  • आवेदन हमेशा सादे पेपर पर ही लिखें क्योंकि यह एक पुरानी परंपरा है और इसका प्रयोग वर्षों से किया जा रहा है।

FAQ

Q. 1) Hindi Application लिखते समय किन बातों का ध्यान देना चाहिए ?

Answer – आवेदन लिखते समय हमेशा नम्र शब्दों का प्रयोग करना चाहिए। आवेदन को अनुरोध के साथ शुरू करें तथा अपनी बातें को ऐसे व्यक्त करें जैसे आप किसी से कुछ मांग रहे हो। आपकी बातें स्पष्ट तथा सरल भाषा में होनी चाहिए ताकि पढ़ने वाला व्यक्ति आपकी समस्याओं को समझ सके।

Q. 2) Hindi Application लिखने का तरीका क्या है ?

Answer – हिंदी आवेदन लिखने का पूरा तरीका मैंने इस पोस्ट में बता रखा है, ऊपर आपको हिंदी आवेदन लिखने का सही तरीका साथ में आवेदन के कई अलग-अलग फॉर्मेट भी मिल जाएंगे जिसे देखकर आप अपनी जरूरत की हिंदी आवेदन को लिख सकते हैं।

Q. 3) Hindi Application के शुरुआत में क्या लिखें ?

Answer – जब आप आवेदन लिखना शुरू करते हैं तो सबसे पहले “सेवा में” लिखना है, उसकी अगली पंक्ति में “श्रीमान” करके संबोधित करना है, उसके नीचे वाली पंक्ति में विषय इत्यादि लिखकर अपनी आवेदन का मुख्य उद्देश्य व्यक्त करना है ।

Conclusion

दोस्तों इस पोस्ट में हमने आपको बताया कि hindi me application kaise likhe साथ ही इस पोस्ट में हमने hindi application के बारे में सारी जानकारियां विस्तार में जानी तथा सभी प्रकार की Hindi Application को लिखने का तरीका भी जाना।

आशा करता हूं इस पोस्ट को पढ़कर आपको कुछ नया सीखने को मिला होगा साथ ही आपको आपके प्रश्न का भी उत्तर मिल गया होगा कि hindi me application kaise likhe

इसे भी पढ़ें :-

1 thought on “Hindi Application कैसे लिखें ( 5 प्रकार के Hindi Application Format )”

Leave a Comment